Events

Founder of Mariyam Institute raebareli

अध्यक्ष के कलम से…

वाक्‌ देवी माँ सरस्वती का कृपा पात्र मानव ज्ञान-विज्ञान अर्जन एवं कला में श्रेष्ठ जीव है। जो चौरासी लाख योनियों में सर्वश्रेष्ठ है, क्योंकि मानव मात्र ही ज्ञानार्जन की अद्भुत शक्ति से सम्पन्न प्राणी है, मानव शरीर पंचतत्वों से अर्विभूत, नैत्यकर्म युक्त संचालित प्राणी है, विद्या एवं ज्ञानार्जन ही मानव के विकास व सभ्यता का मूल स्त्रोत है सभी प्रकार के दान कर्मों में द्यादान महत्वपूर्ण है यथा ”अन्न दानं महादानं, विद्यादानं विशिष्यते “।

– डा0 मो0 मुस्लिम (पुर्व विधायक)


From the Desk of Director

You see, God help only people who work hard. That principle is very clear.

Confidence and hard work is the best medicine to kill the disease called failure.
It will make you successful person….

“आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते,
लेकिन अपनी आदतें बदल सकते हैं,
और निश्चित रूप से आपकी आदतें आपका फ्यूचर बदल देंगी ।। “

– Mrs. Nasreen Bano

ADMISSION OPEN

GET IN TOUCH